ynathpoems "मेरे लिखने की आदत" (कविता)

ynathpoems

दोस्तो , नमस्कार मेरी यह कविता उस विषय पर हैं जिसमे हमारे व्दारा लिखी हुई कुछ बाते किसी के दिलो को दुखी कर जाती हैं ऐसी उस छोटी सी भावना को इस कविता के मध्यम से दर्शाया गया हैं अगर मेरी कविता मे कोई गलती हो गई तो कृपा करके मुझे माफ करें ,धन्यवाद।

                                               मेरे लिखने की आदत (कविता)
    
मेरे लिखने की आदत, किसी को दुखी कर जाती हैं .......
हकीकत बया कर दूं तो, आँखे भर आती हैं......
मेरे लिखने की आदत, किसी को दुखी कर जाती हैं .......

क्या गुनाह हैं ,सच लिख देना।
दिलो को तोडकर ,आंसु भर देना।।
खुशियां दे सकते हो, तो गम क्यो देना।
सच छिपा लो यारो,काँटो के बीज क्यो बोना।।
गम की इस दुनिया में, कही तो रोशनी नजर आती हैं.......

मेरे लिखने की आदत, किसी को दुखी कर जाती हैं .......

थोडी खुशियां हैं ,गम ज्यादा।
हर पल हंसने का, ना कर वादा।।
गम तो गम हैं,क्यो इसका बोझा लादा।
हाल पुछले दिलो का, जीवन बना ले सादा।।
कलम को रोक लिया ,
अब हर तरफ खुशियो की महंक आती हैं......

मेरे लिखने की आदत, किसी को दुखी कर जाती हैं .......

हकीकत बया कर दू तो, आँखे भर आती हैं......
मेरे लिखने की आदत, किसी को दुखी कर जाती हैं .......

                                                                                    योगेन्द्र नाथ (एडवोकेट)





--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
English Translation


Hello friends, this poem of mine is on the subject in which some of the things written by us make someone's heart sad, such a small feeling is shown from the middle of this poem, if there is any mistake in my poem, please I'm sorry thanks.                           

                               My writing habit (poem)

    
My habit of writing ,makes someone sad .......

If I tell the reality, the eyes are filled ……

My habit of writing, makes someone sad .......


What a crime, write down the truth

Break the hearts, fill the tears.

If you can give happiness, why give sorrow.

Hide the truth, why sow the seeds of thorns.

In this world of sorrow, lights are seen somewhere…


My habit of writing, makes someone sad .......


There is some happiness, more sorrow.

To laugh every moment, not to promise.

Sorrow is sorrow, because it is burdened.

Most last hearts, make life simple.

Stopped the pen,

Now there is the smell of happiness everywhere ...


My habit of writing, makes someone sad .......


If I tell the truth, the eyes are filled ……

My habit of writing, makes someone sad .......

                                                                                Yogendra Nath (Advocate)





--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

2 comments:

please do not enter any spam link in the comment box.